Tuesday, June 18, 2024

Creating liberating content

HomeUncategorizedBharatanatyam Ke Steps:भारतीय...

Bharatanatyam Ke Steps:भारतीय नृत्य भरतनाट्यम कैसे सीखे कदम से कदम मिलाए

Bharatanatyam Ke Steps: भारत के समृद्ध कला और संस्कृति की तो आपने खूब सुना होगा, लेकिन क्या आपने कभी भरतनाट्यम के बारे में जाना है? भरतनाट्यम भारत के सबसे प्राचीन शास्त्रीय नृत्य रूपों में से एक है। यह अपनी जटिल तालमेल (taalमेल), भावपूर्ण अभिनय (abhinaya) और आकर्षक वेशभूषा (veshbhusha) के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है।

भरतनाट्यम: इतिहास और परंपरा (Itihas aur Parampara)

भरतनाट्यम की जड़ें तमिलनाडु में हैं, जहां इसे “नाट्यम” के नाम से जाना जाता था। इसका इतिहास हजारों साल पुराना है, और इसका उल्लेख प्राचीन तमिल संगम साहित्य में भी मिलता है। माना जाता है कि यह नृत्य रूप मंदिरों में धार्मिक भेंट के रूप में शुरू हुआ और बाद में शाही दरबारों में अपना रास्ता बना लिया। भरतनाट्यम को देवदासियों द्वारा संरक्षित किया गया था, जो मंदिर की नर्तकियाँ थीं।

भारत के अन्य Dance ( नृत्य ) सभी राज्य का

StateClassical Dance(s)Folk Dance(s)
Andhra PradeshKuchipudiLambadi, Dhimsa, Kolattam
AssamSattriyaBihu, Bhortaal
BiharNoneJata-Jatin, Bidesia, Chhau
ChhattisgarhNoneKarma Naach, Pandavani, Gaura Maria
GoaNoneDekhni, Fugdi, Mandovi River Dance
GujaratGarbaDandiya Raas, Tippani, Bhavai
HaryanaNoneSaang, Haryanvi Dance, Chhau
Himachal PradeshNoneNati, Kulluvi Natti, Shalina
JharkhandChhauPaika, Jhumeria, Karma
KarnatakaBharatanatyamYakshagana, Dollu Kunitha, Chenna Keshava
KeralaKathakali, MohiniyattamTheyyam, Mappilappaattu, Oppana
Madhya PradeshNoneMaanch, Bhand Paather, Malwi Geet
MaharashtraLavaniKoli Dance, Lezim, Powada
ManipurManipuriLai Haraoba, Manipuri Martial Dance
MeghalayaNoneLaho Dance, Wangala Dance, Nongkrem Dance
MizoramCherawBamboo Dance, Zawlbuk, Fanai
NagalandNoneNaga war dance, Hornbill Dance, Lih
OdishaOdissiGhoomar, Sambalpuri, Karma
RajasthanKathakGhoomar, Kalbeliya, Bhavai
SikkimNoneChuksom, Mask Dance, Fa-Chham
Tamil NaduBharatanatyamKaragattam, Mayilattam, Theru Koothu
TelanganaPerini ThandavamBathukamma, Kommu Dance, Lambadi
TripuraHojagiriTripuri Dance, Garia, Mosera
Uttar PradeshKathakBhangra, Raslila, Nautanki
UttarakhandNoneCholiya Dance, Baangi, Jhumekiya
West BengalNoneChhau, Chhau Nritya, Baul Nritya

भरतनाट्यम के पद (bharatanatyam ke steps)

भरतनाट्यम नृत्य कई तरह के पदों (steps) से मिलकर बनता है, जिन्हें अडवु (adavu) कहा जाता है। ये अडवु नृत्य की मूलभूत इकाई हैं और इन्हें सीखने में वर्षों का कठोर अभ्यास लगता है।

भरतनाट्यम के पदों की झलक

भरतनाट्यम के सैकड़ों अडवु हैं, जिनमें से कुछ शुरुआती लोगों के लिए सीखने के लिए आसान हैं, वहीं कुछ काफी जटिल होते हैं। आइए कुछ प्रचलित अडवु पर एक नज़र डालें:

  • ताडवु (Thattadavu): यह सबसे बुनियादी अडवु है जिसमें पैरों का सीधा आगे-पीछे होना शामिल है।
  • अराट्टाई अडवु (Arattai Adavu): इस अडवु में पैरों को चौड़ा करके कूदना शामिल है।
  • जट्टाले अडवु (Jattagale Adavu): इसमें पैरों को घुमाते हुए कूदना शामिल है।
  • कुलाल अडवु (Kulada Adavu): इस अडवु में पैरों को घुटनों से मोड़कर कूदना शामिल है।
  • अन्य अडवु: मयूरासन अडवु (मोर की मुद्रा), गणेश अडवु (भगवान गणेश की मुद्रा), आदि अडवु (नृत्य की शुरुआत), भरतनाट्यम अडवु (नृत्य शैली का प्रतिनिधित्व), मंडी अडवु (घुटनों को मोड़कर पैर घुमाना), अलारी अडवु (ताल और लय का अभ्यास) वगैरह।

भावनाओं की भाषा (Bhavaaoon ki bhasha)

भरतनाट्यम केवल पदों (steps) के बारे में नहीं है। यह भावनाओं और कहानियों को व्यक्त करने के लिए चेहरे के भाव (facial expressions), हाथ के इशारों (mudras) और आंखों के संचालन (eye movements) का भी उपयोग करता है। यही वजह है कि भरतनाट्यम को नृत्य नाटक (dance drama) भी कहा जाता है। भरतनाट्यम की भावपूर्ण प्रस्तुति के लिए नृत्यक को नृत्य के साथ-साथ कहानी को भी अभिनय के माध्यम से Bharatanatyam Ke Steps जीवंत बनाना होता है।

Bharatanatyam-Ke-Steps
Bharatanatyam Ke Steps:भारतीय नृत्य भरतनाट्यम कैसे सीखे कदम से कदम मिलाए 3

भरतनाट्यम सीखने के फायदे (bharatanatyam sikhne ke fayde)

Bharatanatyam Ke Steps:भरतनाट्यम सीखना सिर्फ कलात्मक अभिव्यक्ति का ही तरीका नहीं है, बल्कि इसके कई शारीरिक और मानसिक फायदे भी हैं:

All so read

भरतनाट्यम सीखने के फायदे (bharatanatyam sikhne ke fayde) (continued)

  • शारीरिक लाभ (Shareerik Labh): लचीलापन बढ़ाना, ताकत और सहनशक्ति में वृद्धि, संतुलन और समन्वय में सुधार, और मुद्रा (posture) का बेहतर होना।
  • मानसिक लाभ (Maanasik Labh): आत्मविश्वास बढ़ाना, अनुशासन का पाठ, स्मरण शक्ति का विकास, और रचनात्मक अभिव्यक्ति को बढ़ावा देना।

भरतनाट्यम प्रदर्शन (Bharatanatyam प्रदर्शन)

भरतनाट्यम का प्रदर्शन कई भागों में विभाजित होता है, जिन्हें “वरنام” (varnam) कहा जाता है। प्रत्येक वर्णम एक अलग भाव या कहानी बताता है। भरतनाट्यम प्रदर्शन में आमतौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले कुछ वर्णम हैं

Bharatanatyam Ke Steps 2
Bharatanatyam Ke Steps:भारतीय नृत्य भरतनाट्यम कैसे सीखे कदम से कदम मिलाए 4
  • अलारीपू (Alarippu): ताल और लय का प्रदर्शन करने वाला शुद्ध नृत्य।
  • जतिस्वरम (Jatiswaram): जटिल तालमेल और भावों का समावेश।
  • शब्दम् (Shabdham): किसी कविता या भजन पर आधारित भावपूर्ण नृत्य।
  • नृत्तावद्य (Nrittaavadyam): शुद्ध नृत्य, जिसमें भावों का समावेश नहीं होता।
  • नोपट्टुकु (Nrittaavadyam): किसी कहानी या भाव को अभिनय के माध्यम से प्रस्तुत करना।

भरतनाट्यम पोशाक (Bharatanatyam Poshak)

भरतनाट्यम की पोशाक रंगीन और आकर्षक होती है। इसमें आमतौर पर शामिल हैं:

  • साड़ी: नृत्यांगना एक सुंदर साड़ी पहनती है, जिसे नृत्य के दौरान आसानी से लपेटा जा सके।
  • चोली: साड़ी के साथ एक खूबसूरत चोली पहनी जाती है।
  • आभूषण: भरतनाट्यम प्रदर्शन में सोने या कुंदन के आभूषण पहने जाते हैं, जिनमें झुमके, हार, कमरबंद और मांग टीका शामिल हैं।
  • मैकेअप: आंखों, होठों और चेहरे पर नाट्य रूपी संकेतों को दर्शाने के लिए खास तरह का मेकअप किया जाता है।
  • बिंदी: माथे पर एक बड़ी, काली बिंदी लगाई जाती है।

भरतनाट्यम के प्रसिद्ध कलाकार (Bharatanatyam ke Pratishthit Kalaakar)

Bharatanatyam Ke Steps: भरतनाट्यम ने कई महान कलाकारों को जन्म दिया है, जिन्होंने इस कला को दुनिया भर में प्रसिद्ध किया है। इनमें से कुछ प्रसिद्ध नाम हैं:

  • रुक्मिणी देवी अरुंडेल (Rukmini Devi Arundale)
  • तंजावुर बालासारस्वती (Tanjore Balasaraswati)
  • शांता राउ (Shanta Rao)
  • अलारमेल वल्ली (Alarmel Valli)
  • सुजाता सुंदरम (Sujata Sundaram)
  • पदम सुब्रह्मण्यम (Padma Subramanyam)

भरतनाट्यम: परंपरागत कला का आधुनिक स्पर्श (Paramparagat Kala ka Aadhunik Sparsh)

भरतनाट्यम एक प्राचीन कला रूप है, लेकिन यह समय के साथ विकसित होता रहता है। आजकल कई कलाकार भरतनाट्यम में नए प्रयोग कर रहे हैं, जैसे कि समकालीन विषयों को शामिल करना और विभिन्न नृत्य शैलियों का फ्यूजन करना। हालांकि, भरतनाट्यम की मूल भावना और परंपरा को बनाए रखा जाता है।

FAQ,S Bharatanatyam Ke Steps

भरतनाट्यम सीखना शुरू करने के लिए क्या उम्र सही है?

भरतनाट्यम सीखने के लिए कोई उम्र सीमा नहीं है। लेकिन, इसे जल्दी शुरू करने से लचीलापन और तालीम में फायदा होता है।


भरतनाट्यम का पहला कदम क्या है?

यह पहला अदावु है जो पैरों को थपथपाने पर केंद्रित है। इसे करने के लिए: अराईमंडी स्थिति में खड़े हो जाएं। अपने बाएँ पैर को थपथपाएँ।


भरतनाट्यम का दूसरा नाम क्या है?

दक्षिणी भारत में तमिलनाडु का भरतनाट्यम मंदिरों को समर्पित नर्तकियों की कला से विकसित हुआ है और इसे पहले सदिर या दासी अट्टम के नाम से जाना जाता था। यह भारत के पारंपरिक नृत्यों में से पहला है जिसे थिएटर कलाकारों द्वारा नया रूप दिया गया है और देश और विदेश में व्यापक रूप से प्रदर्शित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Continue reading

LNMU Part 2 Admit Card Out (2022-25) B.A, B.Sc and B.com @LMNU

LNMU Part 2 Admit Card: Calling all Lalit Narayan Mithila University (LNMU) undergraduate students appearing for the Part 2 exams in the 2022-25 session! This guide is your one-stop shop for everything related to downloading your admit card. We'll...

PM Kisan Samman Nidhi 17th Kist 2024 Released: Check If Your Money Is In Your Account

PM Kisan Samman Nidhi 17th Kist 2024 : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-KISAN) योजना के अंतर्गत सरकार देश के करोड़ों किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है। इस योजना के तहत हर साल ₹6,000 तीन किस्तों में ₹2,000 दी...

CUIMS Login 2024: Your Guide to Chandigarh University Blackboard

CUIMS Login 2024: Navigating university life can be overwhelming, especially when it comes to online platforms. If you're a student or faculty member at Chandigarh University (CU), CUIMS (Chandigarh University Information Management System) is your one-stop portal for everything...

Enjoy exclusive access to all of our content

Get an online subscription and you can unlock any article you come across.